कही डूब ना जाए 

इस सूरज के चले जाने से जाने क्यों लोग घबराते है जब ये नन्ही बूँदें बरसती है सड़के खाली क्यों हो जाती है ? क्यों लोग अक्सर  छाओ में पनाह ढूंढा करते है क्यों ना खुले आसमा को अपना खुदा ना समझते है खुदा ना सही इश्क़ ही सही कभी इन बूंदो को गले लगा…

Cherry & Me – An Open Letter To The Second Love of My Life

Dear Cherry 10 years back when I first saw you, I knew you were it. Though my father preferred you in grey or black, your cherry red shine was love at first sight, even though I never believed in it. I still don’t, but you stand there as the only exception. Your long wheelbase and…